निर्देश : नहीं रहेगा झंडा-बैनर, सिर्फ दिखेंगे मानव ही मानव

पटनाः शराबबंदी के समर्थन में 21 जनवरी को बनाई जाने वाली विश्व की सबसे लंबी मानव शृंखला में किसी भी राजनीतिक दल या संगठन को झंडे-बैनर नहीं लगाने दें. राज्य सरकार ने यह निर्देश सभी जिलों के डीएम को दिया है. एक पत्र में कहा गया है कि जिलापदाधिकारी इस आदेश का अनुपालन सुनिश्चित करें.

उल्लेखनीय है कि राज्य में 21 जनवरी को मानव शृंखला बनाना प्रस्तावित है. मद्य निषेध के समर्थन में बनने वाली इस शृंखला की लंबाई 11 हजार 292 किलोमीटर होगी. इतनी लंबी ह्यूमन चेन विश्व में अब तक नहीं बनी.
बिहार में अप्रैल 2016 को मद्य निषेध लागू हुआ था. शिक्षा विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि ह्यूमन चेन बनाने का कार्यक्रम कोई राजनीतिक कदम नहीं. यह एक सामाजिक कोशिश है, जिसका मकसद है शराब बंदी के प्रति जागरुकता फैलाना. इसमें हर कोई भाग ले सकता है. लेकिन सिर्फ एक बिहारी या भारतीय के रूप में. न कि किसी राजनीतिक दल या संगठन के नुमाइंदे के रूप में.
जदयू अध्यक्ष बशिष्ठ नारायण सिंह ने भी पार्टी पदाधिकारियों से अपील की है कि इस कार्यक्रम में दल के झंडों-बैनरों का प्रदर्शन न करें. सिंह ने कहा कि कार्रकर्ताओं को बड़ी संख्या में इसमें भाग लेना चाहिए ताकि यह सफल हो.
इस बीच ऐसे संकेत मिल रहे हैं कि विपक्षी दल भी मानव शृंखला कार्यक्रम में भाग लेने का मन बना रहे हैं. उल्लेखनीय है कि भाजपा अध्यक्ष मंगल पांडेय और सुशील मोदी ने कुछ दिन पहले कार्यक्रम को समर्थन देने से इनकार कर दिया था.

यह भी पढ़ें- मानव श्रृंखला : भाजपा को नीतीश के साथ देख लालू ने बदला पैंतरा, दिया समर्थन

शराबबंदी : 11292km लंबी मानव श्रृंखला को ले जेडीयू के बड़े नेताओं को मिली जिम्मेदारी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *