निखिल की गिरफ्तारी का आदेश, प्रिया को मिलेगी सुरक्षा

पटना :  कांग्रेस के पूर्व मंत्री की बेटी द्वारा लगाए गए यौन शोषण के आरोपों से घिरे राजधानी के चर्चित ऑटोमोबाइल कारोबारी निखिल प्रियदर्शी की मुसीबतें थमने का नाम नहीं ले रही हैं. पीड़िता द्वारा राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग को किए शिकायत का संज्ञान आयोग ने ले लिया है. आयोग ने पत्र लिखकर कमजोर वर्ग के पुलिस महानिरीक्षक को कहा है कि निखिल प्रियदर्शी को जल्दी से जल्दी गिरफ्तार किया जाए. इसके अलावा आयोग ने पीड़िता और उसके परिवार को सुरक्षा प्रदान करने को भी कहा है. क्योंकि पीड़िता ने आयोग के समक्ष ये शिकायत की थी कि उसे अभी भी व्हाट्सएप्प के जरिए लगातार धमकिया मिल रही थीं.

164 के बयान के आधार पर संज्ञान

आयोग ने अपना संज्ञान पीड़िता के 164 के बयान के आधार पर लिया है. आयोग की ओर से ये लिखा गया है कि निखिल पर लगाए गए आऱोपों के आलोक में एससी-एसटी एक्ट 2015 के अंतर्गत सुसंगत धाराएं लगायी जाएं.

इसके अलावा आयोग ने ये भी कहा है कि पीड़िता की चिकित्सकीय जांच नहीं कराई जाए. जबकि आपको बता दें कि पुलिस ने पहले ही पीड़िता का चिकित्सकीय जांच करा लिया है.

आगे आप खुद ही पढ़ लीजिए क्या कहा आयोग ने…

अब भी फरार है निखिल

आपको बता दें कि प्राथमिकी हुए अब करीब डेढ़ हफ्ते होने को हैं. लेकिन पुलिस अभी तक निखिल प्रियदर्शी का पता नहीं लगा सकी है. निखिल शहर से फरार है. इसके पहले उसने पुलिस को गुमराह करने के लिए अपने फेसबकु टाइमलाइन पर पटना के लोकेशन के साथ एक अपडेट भी किया था.  पुलिस निखिल के ‘हैप्पी आवर’ के पार्टनर सोनू के घर छापा भी मार चुकी है. कुछ भी हाथ नहीं लग सका है. अब, जब आयोग ने संज्ञान लेते हुए जल्दी से जल्दी निखिल की गिरफ्तारी के लिए कमजोर वर्ग के पुलिस महानिरीक्षक को लिखा है, देखना ये होगा कि कितनी जल्दी निखिल की गिरफ्तारी हो पाती है.

यह भी पढ़ें :

प्रिया को निखिल प्रियदर्शी अब भी दे रहा धमकी, 164 का बयान दर्ज

निखिल के ‘हैप्पी आवर’ के पार्टनर सोनू के घर पुलिस ने मारा छापा, अगली बारी किसकी ?

EXCLUSIVE : चौधरी जी ! फिर से रूबी राय क्या, पढ़ा रहे हैं- सेक्सुअल विजुअल देखने में बच्चों को आ रहा मजा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *